WhatsApp Vs Signal

Technology World : कुछ समय पहले Whatsap की पॉलिसी में बदलाव होने के बारे में facebook ने सूचना दी है.जैसा कि आप जानते हैं कि facebook अपने मालिकाना हक़ से whatsapp में नए नए बदलाव करने में लगी रहती है.जिसके चलते अब whatsapp privacy policy में बदलवा हुआ है. जिसमे facebook ने कहा है कि whatsapp user के पर्सनल डेटा को अन्य सोशल platform पर शेयर किया जाएगा. जिसमे facebook इन सब के साथ whatsapp user का डेटा शेयर कर सकता है: facebook business, Instagram व twitter आदि अर्थात् जिनकी मालिक फेसबुक है .गर आप Whatsapp की privacy policy नहीं मानते हो तो आपका whatsapp account डिलीट हो सकता है.आपको बता दें कि बेहद से whatsapp user द्वारा दावा किया गया है कि whatsapp पैसे कमाने के लिए user का डेटा इलेक्शन आदि के समय बेच देता है. जबकि signal messenger में ऐसा कुछ नहीं होता. Signal messenger app की privacy policy के लिए पूरा पढ़ें.
Whatsapp Vs Signal “WhatsApp New Privacy policy

दुनिया के सबसे अमीर आदमी ने भी ट्वीट करके कहा है सिग्नल को इस्तेमाल करने के लिए “use Signal Messenger”

ऐसा उन्होंने क्यों कहा ?

Signal एक इंस्टेंट मैसेजिंग एप्लिकेशन है जो whatsapp से अधिक secure है . और अब whatsapp privacy policy बदल रही है जिसके कारण अब whatsapp चलाना हानिकारक हो सकता है. इस लिए अब signal privacy policy के कारण trending में है और free App में apple store और playstore पर सबसे आगे आ गया है.
Elon Musk New Tweet

Signal messenger कैसे डाउनलोड करें

सिग्नल डाउनलोड करने के लिए प्ले स्टोर पर सर्च करें signal या फिर सीधा यहां से डाउनलोड करें : Download Signal Messenger
आपको बता दें कि signal app को Moxie Marlinspike द्वारा 25 मई 2010 को लॉन्च कर दिया था. Signal app को जब आप playstore पर देखते हैं तो वहां पर signal app अपने बारे में लिखता है कि say “hello” to privacy

Signal की privacy policy क्या है ?

इसके जानकारी के लिए आप signal official blog पर जा सकते हैं : signal Privacy Policy

क्या Signal एप्प WhatsApp से बेहतर है?

Signal Messenger : सिग्नल मैसेंजर एक प्राइवेट मैसेजिंग एप्लिकेशन है . जिसे यूजर चैट,कॉलिंग के फंक्शन के साथ signal app का इस्तेमाल कर सकते हैं. इस एप्लिकेशन को व्हाटसएप के जैसे ही इस्तेमाल कर सकते हैं. इसमें Whatapap जैसे ही कुछ फीचर हैं और whatsapp से अलग बेहतरीन फीचर भी है जिनके बारे में नीचे उलेख किया गया है
अगर आप जानना चाहते हैं कि signal messenger app और whatsapp Messenger किस देश के हैं तो आपको बता दें कि दोनों ही Messenger App एक ही देश के है: Mountain View जो California में है.

Signal messenger में क्या है जो Whatsapp Messenger में नहीं है

9 जनवरी 2021 : signal messenger app में आप इंस्टाल करने के बाद प्राइवेसी पॉलिसी देख सकते हैं. जबकि whatsapp Privacy policy को पढ़ने में alow करने के लिए 8 फरवरी से शुरू करेगा.
इसके साथ ही signal app को आप बिना किसी third party application के बिना लॉक कर सकते हैं. जबकि whatsapp में ऐसा नहीं होता. या फिर आप Whatapap में लॉक लगाने के लिए whatsapp gb, whatsap fm, mod Whatsapp का इस्तेमाल करते हैं या फिर app locker , whatsapp locker. कुछ यूजर के मोबाइल में ही ऑप्शन होते हैं किसी भी application को lock करने के लिए पर signal में ऐसा नहीं है.
Signal messenger को लॉक करने के लिए आपको सेटिंग्स मे जाकर Privacy पर जाकर accses में screen lock के लिए Alow करना होगा. जिसको alow करके आप लॉक लगने का टाइम अपने हिसाब से सेटिंग्स कर सकते हैं.
Signal Vs WhatsApp
Language : WhatsApp Messenger में language बदलने का कोई ऑप्शन नहीं है. whatsapp में language Location के हिसाब से होती है परन्तु signal messenger में language को default करने के साथ साथ बदलने के ऑप्शन भी मौजूद है जिसमे आप हिंदी , English, पंजाबी मराठी आदि 70 भाषाएं मौजूद हैं.
Whatsapp messenger में स्क्रीन शॉट ब्लॉक नहीं हो सकते पर signal messenger में screen shot ब्लॉक करने के लिए सेटिंग्स मे जाकर प्राइवेसी वाले ऑप्शन मे screen shot block करने के लिए Alow कर सकते हैं. जिसके बंद कोई भी स्क्रीन शॉट लेता है तो उसको एक मेसेज show होगा कि screen shot is not allowed .
Signal messenger को default messaging application के जैसे इस्तेमाल मे लाया जा सकता है. जबकि व्हाट्सएप के साथ ऐसा कुछ नहीं है.जिसे आप जब Default के रूप में सिलेक्ट करते हैं तो आपके मैसेज इस ऐप में ही इंपोर्ट ही जाएंगे
Signal में आप link device’s भी देख सकते हैं.जिससे आपको पता लग जाता है कि आपका नंबर आपने किस अन्य device में लॉगिन कर रखा है,जबकि व्हाट्सएप सिर्फ एक ही नंबर से एक ही डिवाइस में चलाया जा सकता है. Whatsapp multi Devices feature भविष्य में शुरू कर सकता है.
Notification : signal messenger में नोटिफिकेशन whatsapp notification से अलग है तरीके से दिए जाते हैं. कुछ यूजर के मोबाइल में फ़्लैश वाला फीचर नहीं होता है. जिसके लिए यूजर अन्य एप्लिकेशन डाउनलोड करते हैं. परन्तु अगर आप signal messenger का इस्तेमाल करते हैं तो आपको flash notification के लिए दूसरे एप्लिकेशन कि जरुरत नहीं पड़ती . इसके साथ ही लॉक करने के लिए भी किसी अन्य एप्लिकेशन नहीं चाहिए होती अगर आप signal messenger का इस्तेमाल करते हैं. तो आपकी प्राइवेसी लॉकड रहती है.
Chat Blocker : अगर आप किसी भी Whatsapp में चैट करते हैं तो आपके द्वारा लिखे गए words यानि चैट Keyboard स्टोर करता है. परन्तु signal app में आप ऐसा करने से रोक सकते हैं जिसके बाद आपके द्वारा चैट कीबोर्ड द्वारा स्टोर नहीं कि जाएगी. इसके लिए आप signal messenger की सेटिंग्स मे जाकर privacy के ऑप्शन incognito keyboard को Alow कर सकते हैं.
Chat Group : WhatsApp के जैसे ही आप signal में ग्रुप बना कर चैट कर सकते हैं. जिसमे disappearing messages का ऑप्शन भी मजूद हैं. जिसके इस्तेमाल से आप के signal app के group से अपने आप मैसेज डिलीट हो जाएंगे जिसके लिए आप समय सेट कर सकते हैं. जिसके लिए आपको signal में 5 second से लेकर 1 week तक सिलेक्ट कर सकते हैं.
Signal app में चैट के दौरान कितनी स्टोरेज use की गई है उसको रिव्यू करने के तरीका whatsapp से बेहद अलग और लाजवाब है.जिसमे आप ऑडियो ,वीडियो और डॉक्यूमेंट के लिए स्टोरेज देख सकते हैं. इसके साथ ही आप सिग्नल में messege history के ऑप्शन का लाभ उठा सकते हैं.
Keep Message जिसमे आप 1 महीने से लेकर forever के लिए signal message रख सकते हैं
Conversation lenth Limit : जिसमे आप signal app के इस्तेमाल से मैसेज लिमिट none,5000 message, 100 message के साथ custom भी कर सकते हैं.
Clear message History एक साथ कर सकते हैं

अभी सिग्नल में स्टेटस का ऑप्शन नहीं है.जिसके कारण signal को व्हाट्सएप से हार का समाना करना पड़ सकता है.

Signal Privacy Policy

सिग्नल मैसेंजर अपनी प्राइवेसी पॉलिसी में लिखता है कि वह किसी भी प्रकार से signal user के डेटा को स्टोर नहीं करता. Signal messenger user की चैट सिर्फ यूजर की device में ही सेव रहती है. Signal messenger application में whatsapp messenger से बेहतर तरीके से चैट backup ले सकते हैं.आपको बता दें कि यह चैट बैकअप अगर आप signal messenger के माध्यम से लेते हैं तो आपका चैट बैकअप और हिस्ट्री सिर्फ आपके डिवाइस में ही सुरक्षित रहेगी आपके डेटा को सिग्नल मैसेंजर कभी भी इस्तेमाल में नहीं लाता. Signal messenger सिर्फ आपके मोबाइल नंबर ही लेता है जिसके बाद सिक्योरटी कोड भरने के बात आपके द्वारा सिग्नल मैसेंजर में दिए गए मोबाइल नंबर पर वन टाइम पासवर्ड आएगा ओटीपी जिसे भरने के बाद आप चार डिजिट का कोड भर कर कन्फर्म password करके सिग्नल ऐप को secure कर सकते हैं.

Latest Posts